Tuesday, September 27, 2022

खूबसूरत ट्यूशन टीचर की बोरे में मिली लाश….. स्टूडेंट के पिता से बन गये थे अवैध संबंध…ब्लैकमेलिंग बना मौत का कारण।

भिलाई । अलवर जिले के ततारपुर थाना इलाके में चार दिन पहले मिली अज्ञात महिला के शव के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. इस महिला की हत्या करके उसके शव को फेंक दिया गया था.

यह हत्या अवैध संबंधों और ब्लैकमेलिंग का परिणाम थी. बोरे में मिली यह महिला ट्यूशन टीचर थी. उसके एक व्यवसायी के साथ अवैध संबंध थे. इन अवैध संबंधों के बाद यह महिला व्यवसायी पर शादी करने और 50 लाख रुपये देने का दबाव बनाने लगी थी.

इससे परेशान होकर व्यवसायी ने अपनी पत्नी और दो अन्य लोगों की मदद से हत्या कर शव को यहां फेंक दिया था. पुलिस ने इस मामले में सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. थानाधिकारी विजय चंदेल ने बताया कि 16 मार्च को ततारपुर थाने पर सूचना मिली थी

की इन्द्रा बस्ती के पास पुलिया के नीचे एक बोरे में लाश पड़ी हुई है. सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची तो कचरे के ढेर के पास सफेद प्लास्टिक के बोरे में एक अज्ञात महिला का शव पड़ा हुआ था.

इस महिला की अज्ञात आरोपियों ने हत्या कर लाश को बोरे में बंद करके फेंक दिया था. बाद में महिला के शव को ततारपुर सीएचसी में रखवाया गया था.

ट्यूशन टीचर के रूप में काम करती थी

महिला का शव 4-5 दिन पुराना था. इस पर पुलिस ने टीम गठित कर मामले की जांच शुरू की. बाद में मृतक महिला की पहचान दिल्ली निवासी प्रियंका (29) साल के रूप में हुई. जांच में सामने आया कि वह ट्यूशन टीचर के रूप में काम करती थी.

प्रियंका दिल्ली निवासी व्यवसायी कपिल गुप्ता के घर पर बच्चों को पढ़ाने जाती थी. कपिल गुप्ता कपड़ा व्यावसायी है. उसकी प्रियंका के साथ दोस्ती होने के बाद अवैध संबंध बन गए थे.

शादी का दबाव बनाया और 50 लाख रुपये मांगे

उसके बाद प्रियंका ने शादी का दबाव बनाया और 50 लाख रुपये मांगे. प्रियंका के द्वारा ब्लैकमेल करने पर कपिल गुप्ता ने उसकी हत्या की साजिश रची थी.

इसमें कपिल गुप्ता (39), उसकी पत्नी सुनैना गुप्ता (38) नौकर राजकिशोर यादव (24) निवासी गाजियाबाद और सचिन देवल (23) निवासी दिल्ली शामिल थे.

लाश को कार से दिल्ली से लाकर फेंका गया था

जांच में सामने आया कि हत्या से पहले प्रियंका ने गांधीनगर दिल्ली में बैंक से पैसे निकलवाये थे. लेकिन उसके बाद वापस घर नहीं लौटी थी. पुलिस ने इस मामले में आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करते हुये इसकी जांच की.

सीसीटीवी फुटेज, बीटीएस डाटा और अन्य संसाधनों की मदद से पता चला कि मृतका की लाश को कार से दिल्ली से लाकर इंद्रा बस्ती पुलिया के नीचे डाला गया है. इसके लिये उपयोग में ली गई कार की पहचान हो गई.

पुलिस ने दिल्ली में कई जगह दी दबिशें

बाद में दिल्ली पुलिस की मदद से दिल्ली के आनंद बिहार, गांधी नगर, करावल नगर और गाजियाबाद में आरोपियों की तलाश में दबिशें दी गई.

पुलिस ने इस मामले में हत्या के सुरागों को जोड़ते हुये आरोपी कपिल गुप्ता, सुनैना गुप्ता, राज किशोर और सचिन को बापर्दा गिरफ्तार कर लिया.

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

भिलाई । अलवर जिले के ततारपुर थाना इलाके में चार दिन पहले मिली अज्ञात महिला के शव के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. इस महिला की हत्या करके उसके शव को फेंक दिया गया था.

यह हत्या अवैध संबंधों और ब्लैकमेलिंग का परिणाम थी. बोरे में मिली यह महिला ट्यूशन टीचर थी. उसके एक व्यवसायी के साथ अवैध संबंध थे. इन अवैध संबंधों के बाद यह महिला व्यवसायी पर शादी करने और 50 लाख रुपये देने का दबाव बनाने लगी थी.

इससे परेशान होकर व्यवसायी ने अपनी पत्नी और दो अन्य लोगों की मदद से हत्या कर शव को यहां फेंक दिया था. पुलिस ने इस मामले में सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. थानाधिकारी विजय चंदेल ने बताया कि 16 मार्च को ततारपुर थाने पर सूचना मिली थी

की इन्द्रा बस्ती के पास पुलिया के नीचे एक बोरे में लाश पड़ी हुई है. सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची तो कचरे के ढेर के पास सफेद प्लास्टिक के बोरे में एक अज्ञात महिला का शव पड़ा हुआ था.

इस महिला की अज्ञात आरोपियों ने हत्या कर लाश को बोरे में बंद करके फेंक दिया था. बाद में महिला के शव को ततारपुर सीएचसी में रखवाया गया था.

ट्यूशन टीचर के रूप में काम करती थी

महिला का शव 4-5 दिन पुराना था. इस पर पुलिस ने टीम गठित कर मामले की जांच शुरू की. बाद में मृतक महिला की पहचान दिल्ली निवासी प्रियंका (29) साल के रूप में हुई. जांच में सामने आया कि वह ट्यूशन टीचर के रूप में काम करती थी.

प्रियंका दिल्ली निवासी व्यवसायी कपिल गुप्ता के घर पर बच्चों को पढ़ाने जाती थी. कपिल गुप्ता कपड़ा व्यावसायी है. उसकी प्रियंका के साथ दोस्ती होने के बाद अवैध संबंध बन गए थे.

शादी का दबाव बनाया और 50 लाख रुपये मांगे

उसके बाद प्रियंका ने शादी का दबाव बनाया और 50 लाख रुपये मांगे. प्रियंका के द्वारा ब्लैकमेल करने पर कपिल गुप्ता ने उसकी हत्या की साजिश रची थी.

इसमें कपिल गुप्ता (39), उसकी पत्नी सुनैना गुप्ता (38) नौकर राजकिशोर यादव (24) निवासी गाजियाबाद और सचिन देवल (23) निवासी दिल्ली शामिल थे.

लाश को कार से दिल्ली से लाकर फेंका गया था

जांच में सामने आया कि हत्या से पहले प्रियंका ने गांधीनगर दिल्ली में बैंक से पैसे निकलवाये थे. लेकिन उसके बाद वापस घर नहीं लौटी थी. पुलिस ने इस मामले में आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करते हुये इसकी जांच की.

सीसीटीवी फुटेज, बीटीएस डाटा और अन्य संसाधनों की मदद से पता चला कि मृतका की लाश को कार से दिल्ली से लाकर इंद्रा बस्ती पुलिया के नीचे डाला गया है. इसके लिये उपयोग में ली गई कार की पहचान हो गई.

पुलिस ने दिल्ली में कई जगह दी दबिशें

बाद में दिल्ली पुलिस की मदद से दिल्ली के आनंद बिहार, गांधी नगर, करावल नगर और गाजियाबाद में आरोपियों की तलाश में दबिशें दी गई.

पुलिस ने इस मामले में हत्या के सुरागों को जोड़ते हुये आरोपी कपिल गुप्ता, सुनैना गुप्ता, राज किशोर और सचिन को बापर्दा गिरफ्तार कर लिया.