Saturday, October 16, 2021

बाइक को लेकर शुरू हुआ विवाद, बाप की गला घोंटकर हत्या में खत्म हुआ..

कवर्धा – एक युवक ने बाइक के विवाद में अपने बाप की गला घोंट कर हत्या कर दी। इसके बाद शव को घर से करीब 100 मीटर दूर ले जाकर दफना दिया। दो दिन बाद बुधवार को सरपंच के घर आरोपी युवक पहुंचा और पिता के लापता होने की जानकारी दी। फिर ग्रामीणों और सरपंच पति के साथ तलाश करने निकल पड़ा। थोड़ी देर बाद जब एक जगह संदेह होने पर जमीन को खोदा गया तो शव देख युवक ने हत्या की बात स्वीकार कर ली। मामला रेंगाखार जंगल थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, ग्राम घानीखुंटा निवासी प्रभुलाल वर्मा (53) के दो बेटे कैलाश (22) और सोनू (6) हैं। कैलाश का अपने पिता से अकसर बाइक चलाने को लेकर विवाद होता था। प्रभुलाल उसे बाइक चलाने नहीं देता और टीवी देखने से रोकता था। रविवार सुबह भी दोनों के बीच इसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। गुस्से में आकर कैलाश ने रस्सी से अपने पिता का गला घोंट दिया। इसके बाद घर के पीछे करीब 100 मीटर दूर ले जाकर शव दफना दिया।

हत्या के बाद कैलाश ने शव को घर में ही छिपा दिया। छोटा भाई सोकर उठा तो उसके लिए खाना बनाया। फिर उसे खेलने भेज दिया। इसके बाद शव को बाहर ले गया और दफना दिया।  - Dainik Bhaskar
हत्या के बाद कैलाश ने शव को घर में ही छिपा दिया। छोटा भाई सोकर उठा तो उसके लिए खाना बनाया। फिर उसे खेलने भेज दिया। इसके बाद शव को बाहर ले गया और दफना दिया। 

तीसरे दिन सरपंच पति को दी पिता के लापता होने की जानकारी

आरोपी कैलाश वारदात के तीसरे दिन यानी मंगलवार को सरपंच पति फगन सिंह के पास पहुंचा और पिता के लापता होने की जानकारी दी। बताया कि रिश्तेदारों के यहां पूछताछ की, लेकिन कहीं पता नहीं चला। इस पर सरपंच पति उसे और अन्य ग्रामीणों को लेकर गांव में ही प्रभुलाल को तलाश करने के लिए निकले। इस दौरान एक जगह मिट्‌टी खोदकर दोबारा पाटा गया था। संदेह होने पर उन्होंने पुलिस को सूचना दी।

पिता का शव देख हत्या की बात युवक ने की स्वीकार

इसके बाद पुलिस और तहसीलदार की मौजूदगी में जमीन को खोदा गया तो उसमें से प्रभुलाल का शव बरामद हुआ। हालांकि, वह सड़ने की स्थिति में था। शव को देखते ही कैलाश चीखने लगा कि उसने ही अपने पिता की हत्या की है। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया और थाने ले गई। वहां पूछताछ में बताया कि 4 सितंबर की रात वह नशे में घर पहुंचा था। इस बात को लेकर अगले दिन पिता से झगड़ा हुआ। उसके पिता शराब से चिढ़ते थे।

कैलाश ने रस्सी से अपने पिता का गला घोंट दिया। इसके बाद घर के पीछे करीब 100 मीटर दूर ले जाकर शव दफना दिया।
कैलाश ने रस्सी से अपने पिता का गला घोंट दिया। इसके बाद घर के पीछे करीब 100 मीटर दूर ले जाकर शव दफना दिया।

हत्या के बाद छोटे भाई के लिए खाना बनाया, फिर उसे खेलने भेजा

कैलाश ने पुलिस को बताया कि वह बैंगलुरु में काम करता है। वह करीब डेढ़ महीने पहले ही गांव लौटा था, लेकिन पिता से नहीं पटने के कारण ननिहाल में रहता था। इन दिनों उसकी मां भी वहीं है। वारदात से 4 दिन पहले कैलाश घर पहुंचा था। हत्या के बाद उसने शव को घर में ही छिपा दिया। छोटा भाई सोकर उठा तो उसके लिए खाना बनाया और खिलाया। फिर उसे खेलने भेज दिया। उसके जाने के बाद शव को बाहर ले गया और दफना दिया।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

कवर्धा – एक युवक ने बाइक के विवाद में अपने बाप की गला घोंट कर हत्या कर दी। इसके बाद शव को घर से करीब 100 मीटर दूर ले जाकर दफना दिया। दो दिन बाद बुधवार को सरपंच के घर आरोपी युवक पहुंचा और पिता के लापता होने की जानकारी दी। फिर ग्रामीणों और सरपंच पति के साथ तलाश करने निकल पड़ा। थोड़ी देर बाद जब एक जगह संदेह होने पर जमीन को खोदा गया तो शव देख युवक ने हत्या की बात स्वीकार कर ली। मामला रेंगाखार जंगल थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, ग्राम घानीखुंटा निवासी प्रभुलाल वर्मा (53) के दो बेटे कैलाश (22) और सोनू (6) हैं। कैलाश का अपने पिता से अकसर बाइक चलाने को लेकर विवाद होता था। प्रभुलाल उसे बाइक चलाने नहीं देता और टीवी देखने से रोकता था। रविवार सुबह भी दोनों के बीच इसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। गुस्से में आकर कैलाश ने रस्सी से अपने पिता का गला घोंट दिया। इसके बाद घर के पीछे करीब 100 मीटर दूर ले जाकर शव दफना दिया।

हत्या के बाद कैलाश ने शव को घर में ही छिपा दिया। छोटा भाई सोकर उठा तो उसके लिए खाना बनाया। फिर उसे खेलने भेज दिया। इसके बाद शव को बाहर ले गया और दफना दिया।  - Dainik Bhaskar
हत्या के बाद कैलाश ने शव को घर में ही छिपा दिया। छोटा भाई सोकर उठा तो उसके लिए खाना बनाया। फिर उसे खेलने भेज दिया। इसके बाद शव को बाहर ले गया और दफना दिया। 

तीसरे दिन सरपंच पति को दी पिता के लापता होने की जानकारी

आरोपी कैलाश वारदात के तीसरे दिन यानी मंगलवार को सरपंच पति फगन सिंह के पास पहुंचा और पिता के लापता होने की जानकारी दी। बताया कि रिश्तेदारों के यहां पूछताछ की, लेकिन कहीं पता नहीं चला। इस पर सरपंच पति उसे और अन्य ग्रामीणों को लेकर गांव में ही प्रभुलाल को तलाश करने के लिए निकले। इस दौरान एक जगह मिट्‌टी खोदकर दोबारा पाटा गया था। संदेह होने पर उन्होंने पुलिस को सूचना दी।

पिता का शव देख हत्या की बात युवक ने की स्वीकार

इसके बाद पुलिस और तहसीलदार की मौजूदगी में जमीन को खोदा गया तो उसमें से प्रभुलाल का शव बरामद हुआ। हालांकि, वह सड़ने की स्थिति में था। शव को देखते ही कैलाश चीखने लगा कि उसने ही अपने पिता की हत्या की है। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया और थाने ले गई। वहां पूछताछ में बताया कि 4 सितंबर की रात वह नशे में घर पहुंचा था। इस बात को लेकर अगले दिन पिता से झगड़ा हुआ। उसके पिता शराब से चिढ़ते थे।

कैलाश ने रस्सी से अपने पिता का गला घोंट दिया। इसके बाद घर के पीछे करीब 100 मीटर दूर ले जाकर शव दफना दिया।
कैलाश ने रस्सी से अपने पिता का गला घोंट दिया। इसके बाद घर के पीछे करीब 100 मीटर दूर ले जाकर शव दफना दिया।

हत्या के बाद छोटे भाई के लिए खाना बनाया, फिर उसे खेलने भेजा

कैलाश ने पुलिस को बताया कि वह बैंगलुरु में काम करता है। वह करीब डेढ़ महीने पहले ही गांव लौटा था, लेकिन पिता से नहीं पटने के कारण ननिहाल में रहता था। इन दिनों उसकी मां भी वहीं है। वारदात से 4 दिन पहले कैलाश घर पहुंचा था। हत्या के बाद उसने शव को घर में ही छिपा दिया। छोटा भाई सोकर उठा तो उसके लिए खाना बनाया और खिलाया। फिर उसे खेलने भेज दिया। उसके जाने के बाद शव को बाहर ले गया और दफना दिया।