Tuesday, September 27, 2022

यूपी  में पांचवे चरण का चुनाव, 12 जिलों की 61 सीटों पर मतदान, 11 बजे तक 21.39 फीसदी वोटिंग……

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण में 12 जिलों की 61 सीटों पर कड़े सुरक्षा इंतजाम के बीच सुबह 11 बजे तक औसतन 21.39 फीसदी लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग कर लिया था।

निर्वाचन आयोग के अनुसार सुबह 11 बजे तक अमेठी में 21.5 फीसदी लोगों ने वोट डाले जबकि अयोध्या में 24.61 फीसदी, बहराइच में 22.82 फीसदी, बाराबंकी में 18.67 फीसदी, चित्रकूट में 25.59 फीसदी, गोंडा में 22.29 फीसदी, कौशांबी में 25.03 फीसदी, प्रतापगढ में 20.09 फीसदी, प्रयागराज में 18.78 फीसदी, रायबरेली में 20.11 फीसदी, श्रावस्ती में 23.18 फीसदी और सुलतानपुर में 22.44 फीसदी मतदान हुआ।

कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए सुबह 7 बजे से शुरू हुआ मतदान

मतदान कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुये सुबह सात बजे शुरू हुआ। मतदान की रफ्तार शुरूआती दो घंटों में सुस्त दिखायी दी मगर दिन चढ़ने के साथ कई मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं की कतारें लगनी शुरू हो गयी। मतदान शांतिपूर्ण तरीके से जारी है और कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की सूचना नही हैं। मतदान शाम छह बजे तक चलेगा और इस अवधि के बाद भी कतार में खड़ें लोगों को वोट डालने का अधिकार होगा।

इन मंत्रियों की किस्मत आज ईवीएम में होगी कैद

इस चरण में सूबे के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के अलावा मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह,राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह,नंद गोपाल नंदी,रमापति शास्त्री और राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। इसके अलावा कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना और कुंडा के विधायक रघुराज प्रताप सिंह की किस्मत ईवीएम में कैद होगी।

कुल 61 विधानसभा क्षेत्रों में 693 प्रत्याशी मैदान में


पांचवे चरण में कुल 61 विधान सभा क्षेत्रों में 693 प्रत्याशी मैदान में हैं, जिनमें से 90 महिला प्रत्याशी हैं। इस चरण के चुनाव में कुल 25,995 मतदेय स्थल तथा 14,030 मतदान केन्द्र बनाये गये हैं। स्वतंत्र,पारदर्शी एवं निष्पक्ष मतदान सुनिश्चित कराने के लिये आयोग ने मतदान प्रक्रिया पर पैनी नजर रखने की व्यवस्था की है। इसके तहत 60 सामान्य प्रेक्षक, 11 पुलिस प्रेक्षक तथा 20 व्यय प्रेक्षक तैनात किये गये हैं। इसके अलावा 1941 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 250 जोनल मजिस्ट्रेट, 207 स्टैटिक मजिस्ट्रेट तथा 2627 माइक्रो ऑब्जर्वर भी तैनात किये गये हैं।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण में 12 जिलों की 61 सीटों पर कड़े सुरक्षा इंतजाम के बीच सुबह 11 बजे तक औसतन 21.39 फीसदी लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग कर लिया था।

निर्वाचन आयोग के अनुसार सुबह 11 बजे तक अमेठी में 21.5 फीसदी लोगों ने वोट डाले जबकि अयोध्या में 24.61 फीसदी, बहराइच में 22.82 फीसदी, बाराबंकी में 18.67 फीसदी, चित्रकूट में 25.59 फीसदी, गोंडा में 22.29 फीसदी, कौशांबी में 25.03 फीसदी, प्रतापगढ में 20.09 फीसदी, प्रयागराज में 18.78 फीसदी, रायबरेली में 20.11 फीसदी, श्रावस्ती में 23.18 फीसदी और सुलतानपुर में 22.44 फीसदी मतदान हुआ।

कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए सुबह 7 बजे से शुरू हुआ मतदान

मतदान कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुये सुबह सात बजे शुरू हुआ। मतदान की रफ्तार शुरूआती दो घंटों में सुस्त दिखायी दी मगर दिन चढ़ने के साथ कई मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं की कतारें लगनी शुरू हो गयी। मतदान शांतिपूर्ण तरीके से जारी है और कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की सूचना नही हैं। मतदान शाम छह बजे तक चलेगा और इस अवधि के बाद भी कतार में खड़ें लोगों को वोट डालने का अधिकार होगा।

इन मंत्रियों की किस्मत आज ईवीएम में होगी कैद

इस चरण में सूबे के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के अलावा मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह,राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह,नंद गोपाल नंदी,रमापति शास्त्री और राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। इसके अलावा कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना और कुंडा के विधायक रघुराज प्रताप सिंह की किस्मत ईवीएम में कैद होगी।

कुल 61 विधानसभा क्षेत्रों में 693 प्रत्याशी मैदान में


पांचवे चरण में कुल 61 विधान सभा क्षेत्रों में 693 प्रत्याशी मैदान में हैं, जिनमें से 90 महिला प्रत्याशी हैं। इस चरण के चुनाव में कुल 25,995 मतदेय स्थल तथा 14,030 मतदान केन्द्र बनाये गये हैं। स्वतंत्र,पारदर्शी एवं निष्पक्ष मतदान सुनिश्चित कराने के लिये आयोग ने मतदान प्रक्रिया पर पैनी नजर रखने की व्यवस्था की है। इसके तहत 60 सामान्य प्रेक्षक, 11 पुलिस प्रेक्षक तथा 20 व्यय प्रेक्षक तैनात किये गये हैं। इसके अलावा 1941 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 250 जोनल मजिस्ट्रेट, 207 स्टैटिक मजिस्ट्रेट तथा 2627 माइक्रो ऑब्जर्वर भी तैनात किये गये हैं।