Tuesday, September 27, 2022

दोस्त ने सील पत्थर से वार कर ले ली जान…. आरोपी बोला-डर था कि वो मुझे मार देगा….इसलिए उसे मार दिया।

बिलासपुर। बिलासपुर में एक युवक ने अपने ही जिगरी दोस्त की हत्या कर दी। उसने अपने दोस्त को इसलिए मार दिया, क्योंकि दोस्त ने झगड़ा के बाद आरोपी को चाकू दिखाया था। आरोपी ने बताया कि मुझे डर था कि जब मैं सो जाऊंगा तब वह मुझे मार देगा, इसलिए मैंने सिलबट्‌टे के पत्थर से सिर कुचलकर उसकी हत्या कर दी है। पुलिस ने आरोपी को इस मामले में गिरफ्तार कर लिया है। मामला सरकंडा थाना क्षेत्र का है।

दोनों साथ ही रहते थे……

शहर के इरानी मोहल्ले में नानू सारथी(19) और संजू साहू(22) एक ही घर में रहते थे। दोनों दोस्त थे। लंबे समय से दोनों साथ में ही रह रहे थे। बताया जा रहा है कि ये घर संजू साहू का ही है। उसकी मां उसकी बहन के यहां दूसरे इलाके में रहती है। संजू शादी कार्यक्रम में बैलून लगाने का काम करता है। नानू कबाड़ बीनने का काम किया करता था। नानू के भाई उसे छोड़कर पहले से ही अलग रह रहे थे। बचपन में ही उसका मां की मौत हो गई थी। पिता घर छोड़कर जा चुका था।

मारने की धमकी दी…..

सूचना के मुताबिक, दोनों काफी अच्छे दोस्त थे। मगर सोमवार शाम को दोनों में घर के अंदर ही झगड़ा हो गया था। झगड़ा हुआ तो नानू ने संजू को चाकू दिखाया था। कहा था तेरे को मार डालूंगा। उसकी यही धमकी सुनकर संजू घर से भाग गया था। इसके बाद वह रात को करीब 11 बजे घर आया था। तब नानू सो रहा था। इसी दौरान उसने सिलबट्‌टे के पत्थर से सिर कुचलकर नानू की हत्या कर दी थी। नानू की मौके पर ही मौत हो गई थी। वारदात के बाद वह घर से भागकर मोहल्ले के मंदिर के पास जाकर सो रहा था।

पड़ोसी ने दरवाजा खुला देखा….

इस मामले की जानकारी तब सामने आ सकी है। जब पड़ोसी ने संजू का घर खुला हुआ देखा। उसके पड़ोसी ने देखा कि दरवाजा खुला है। बाहर से आवाज देने पर कोई सुन भी नहीं रहा था। इसके बाद पड़ोसी अंदर गया था। अंदर जाने पर उसने नानू की खून से लथपथ लाश देखी। ये देखने के बाद ही उसने तुरंत इस बात की जानकारी पुलिस को दी थी।

मंदिर के पास से मिला संजू…..

खबर लगते ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और आस-पास के लोगों से पूछताछ की गई। पूछताछ में पता चला कि नानू के साथ उसका दोस्त संजू भी रहता था। मगर वो अभी घर पर नहीं है। इस पर पुलिस को शक हुआ, जिसके बाद पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की। तलाश शुरू करने पर संजू मोहल्ले के मंदिर के पास पुलिस सो मिल गया। वो वहां पर सो रहा था। पुलिस ने हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की तो पहले तो उसने पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया। जब पुलिस ने सख्ती दिखाई तब उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया है।

आरोपी संजू ने बताया कि सोमवार शाम को मेरा नानू से झगड़ा हुआ था। उस दौरान उसने मुझे चाकू दिखाया था। इतना ही नहीं उसने मुझे जान से मारने की धमकी दी थी। इसी बात से मैं डरा हुआ था। रात को जब मैं घर पहुंचा तब मैंने देखा की नानू सो रहा है। मुझे डर था कि मैं सो जाऊंगा तो ये मुझे मार देगा। इसलिए मैंने उसे मार दिया है। पुलिस ने आरोपी के इस बयान के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया है।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर। बिलासपुर में एक युवक ने अपने ही जिगरी दोस्त की हत्या कर दी। उसने अपने दोस्त को इसलिए मार दिया, क्योंकि दोस्त ने झगड़ा के बाद आरोपी को चाकू दिखाया था। आरोपी ने बताया कि मुझे डर था कि जब मैं सो जाऊंगा तब वह मुझे मार देगा, इसलिए मैंने सिलबट्‌टे के पत्थर से सिर कुचलकर उसकी हत्या कर दी है। पुलिस ने आरोपी को इस मामले में गिरफ्तार कर लिया है। मामला सरकंडा थाना क्षेत्र का है।

दोनों साथ ही रहते थे……

शहर के इरानी मोहल्ले में नानू सारथी(19) और संजू साहू(22) एक ही घर में रहते थे। दोनों दोस्त थे। लंबे समय से दोनों साथ में ही रह रहे थे। बताया जा रहा है कि ये घर संजू साहू का ही है। उसकी मां उसकी बहन के यहां दूसरे इलाके में रहती है। संजू शादी कार्यक्रम में बैलून लगाने का काम करता है। नानू कबाड़ बीनने का काम किया करता था। नानू के भाई उसे छोड़कर पहले से ही अलग रह रहे थे। बचपन में ही उसका मां की मौत हो गई थी। पिता घर छोड़कर जा चुका था।

मारने की धमकी दी…..

सूचना के मुताबिक, दोनों काफी अच्छे दोस्त थे। मगर सोमवार शाम को दोनों में घर के अंदर ही झगड़ा हो गया था। झगड़ा हुआ तो नानू ने संजू को चाकू दिखाया था। कहा था तेरे को मार डालूंगा। उसकी यही धमकी सुनकर संजू घर से भाग गया था। इसके बाद वह रात को करीब 11 बजे घर आया था। तब नानू सो रहा था। इसी दौरान उसने सिलबट्‌टे के पत्थर से सिर कुचलकर नानू की हत्या कर दी थी। नानू की मौके पर ही मौत हो गई थी। वारदात के बाद वह घर से भागकर मोहल्ले के मंदिर के पास जाकर सो रहा था।

पड़ोसी ने दरवाजा खुला देखा….

इस मामले की जानकारी तब सामने आ सकी है। जब पड़ोसी ने संजू का घर खुला हुआ देखा। उसके पड़ोसी ने देखा कि दरवाजा खुला है। बाहर से आवाज देने पर कोई सुन भी नहीं रहा था। इसके बाद पड़ोसी अंदर गया था। अंदर जाने पर उसने नानू की खून से लथपथ लाश देखी। ये देखने के बाद ही उसने तुरंत इस बात की जानकारी पुलिस को दी थी।

मंदिर के पास से मिला संजू…..

खबर लगते ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और आस-पास के लोगों से पूछताछ की गई। पूछताछ में पता चला कि नानू के साथ उसका दोस्त संजू भी रहता था। मगर वो अभी घर पर नहीं है। इस पर पुलिस को शक हुआ, जिसके बाद पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की। तलाश शुरू करने पर संजू मोहल्ले के मंदिर के पास पुलिस सो मिल गया। वो वहां पर सो रहा था। पुलिस ने हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की तो पहले तो उसने पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया। जब पुलिस ने सख्ती दिखाई तब उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया है।

आरोपी संजू ने बताया कि सोमवार शाम को मेरा नानू से झगड़ा हुआ था। उस दौरान उसने मुझे चाकू दिखाया था। इतना ही नहीं उसने मुझे जान से मारने की धमकी दी थी। इसी बात से मैं डरा हुआ था। रात को जब मैं घर पहुंचा तब मैंने देखा की नानू सो रहा है। मुझे डर था कि मैं सो जाऊंगा तो ये मुझे मार देगा। इसलिए मैंने उसे मार दिया है। पुलिस ने आरोपी के इस बयान के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया है।