Tuesday, December 6, 2022

The Story ऑफ “Middle क्लास Family”

बिलासपुर– लॉकडाउन की वजह से परेशान “मिडिल क्लास फैमिली” की दिक्कतों को लेकर बनी शॉर्ट फिल्म इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है.. सिविल लाइन टीआई परिवेश तिवारी के साथ हुई सत्य घटना पर बनी इस शॉर्ट मूवी के हिट होने की वजह क्या है ? ये समझने.. पहले इस वीडियो को देखिये..

कहानी आपको थोड़ी फिल्मी लगी होगी.. लेकिन फिल्में भी रियल लाइफ पर ही बेस्ड होती है, और हिट भी वही होती है.. जिससे लोग खुद को जोड़ पाते हैं। “मिडिल क्लास फैमिली” की रियल लाइफ पर बनी इस शॉर्ट मूवी ने लोगों को झकझोर दिया है.. इस कहानी से मध्यम वर्ग खुद को जुड़ा महसूस कर रहा है.. यही वजह है, कि मूवी हिट हो रही..

लॉकडाउन से हर वर्ग के लोग परेशान है, लेकिन समाज के हायर और लोवर क्लास के बीच सामंजस्य बनाने हमेशा कशमसाते.. जूझते.. मिडिल क्लास पर किसी का ध्यान नहीं जाता.. इस मुसीबत की घड़ी में भी शासन-प्रशासन, सामाजिक संगठन गरीब तबके के लोगों को भोजन, राशन सहित अन्य जरूरी सामग्री बांट रहे हैं। इन सबके बीच मध्यमवर्ग के कई घरों में चूल्हा नहीं जल रहा है, परिवार के सामने भुखमरी की स्थिति है, लेकिन सामाजिक प्रतिष्ठा के चलते वे मदद नहीं मांग पा रहे। ऐसे परिवारों पर भी ध्यान देने की जरूरत है।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– लॉकडाउन की वजह से परेशान “मिडिल क्लास फैमिली” की दिक्कतों को लेकर बनी शॉर्ट फिल्म इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है.. सिविल लाइन टीआई परिवेश तिवारी के साथ हुई सत्य घटना पर बनी इस शॉर्ट मूवी के हिट होने की वजह क्या है ? ये समझने.. पहले इस वीडियो को देखिये..

कहानी आपको थोड़ी फिल्मी लगी होगी.. लेकिन फिल्में भी रियल लाइफ पर ही बेस्ड होती है, और हिट भी वही होती है.. जिससे लोग खुद को जोड़ पाते हैं। “मिडिल क्लास फैमिली” की रियल लाइफ पर बनी इस शॉर्ट मूवी ने लोगों को झकझोर दिया है.. इस कहानी से मध्यम वर्ग खुद को जुड़ा महसूस कर रहा है.. यही वजह है, कि मूवी हिट हो रही..

लॉकडाउन से हर वर्ग के लोग परेशान है, लेकिन समाज के हायर और लोवर क्लास के बीच सामंजस्य बनाने हमेशा कशमसाते.. जूझते.. मिडिल क्लास पर किसी का ध्यान नहीं जाता.. इस मुसीबत की घड़ी में भी शासन-प्रशासन, सामाजिक संगठन गरीब तबके के लोगों को भोजन, राशन सहित अन्य जरूरी सामग्री बांट रहे हैं। इन सबके बीच मध्यमवर्ग के कई घरों में चूल्हा नहीं जल रहा है, परिवार के सामने भुखमरी की स्थिति है, लेकिन सामाजिक प्रतिष्ठा के चलते वे मदद नहीं मांग पा रहे। ऐसे परिवारों पर भी ध्यान देने की जरूरत है।