Thursday, October 6, 2022

आदिवासी युवक पर बकरा चुराने के आरोप…..सरपंच ने 50 हजार रुपए नहीं देने पर बहिष्कृत करवा दिया और गांव से चले जाने का फरमान सुनाया….किया राशन-पानी बंद।


बिलासपुर। कोटा क्षेत्र के आदिवासी परिवार को सरपंच ने 50 हजार रुपए नहीं देने पर बहिष्कृत करवा दिया और गांव से चले जाने का फरमान सुनाया। पीड़ित परिवार थाने गया तो पुलिस ने सहयोग नहीं किया। विधवा महिला ने इसकी शिकायत कलेक्टर व आईजी से की है।

विधवा के अनुसार सरपंच ने राशन-पानी बंद करा दिया है। ग्राम सल्का निवासी चन्द्रमती खुसरो पति स्व.जान सिंह के दो बेटे व दो बेटियां हैं। बड़ा बेटा तोरण खुसरो कुछ दिन पहले गांव के राधे नायक का बकरा अपने घर लेकर आ गया था।
गांव वालों को लगा कि उसने चोरी की है। वे झगड़ा करने लगे। महिला के बेटे ने बकरा वापस कर दिया। सरपंच ने मामले को रफा-दफा करवाने के एवज में 50 हजार रुपए की मांग की। महिला के पास इतने पैसे नहीं थे। इससे वह रुपए नहीं दे पाई। सरपंच ने गांव में मुनादी करवा कर गांव से निकल जाने कहा।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles


बिलासपुर। कोटा क्षेत्र के आदिवासी परिवार को सरपंच ने 50 हजार रुपए नहीं देने पर बहिष्कृत करवा दिया और गांव से चले जाने का फरमान सुनाया। पीड़ित परिवार थाने गया तो पुलिस ने सहयोग नहीं किया। विधवा महिला ने इसकी शिकायत कलेक्टर व आईजी से की है।

विधवा के अनुसार सरपंच ने राशन-पानी बंद करा दिया है। ग्राम सल्का निवासी चन्द्रमती खुसरो पति स्व.जान सिंह के दो बेटे व दो बेटियां हैं। बड़ा बेटा तोरण खुसरो कुछ दिन पहले गांव के राधे नायक का बकरा अपने घर लेकर आ गया था।
गांव वालों को लगा कि उसने चोरी की है। वे झगड़ा करने लगे। महिला के बेटे ने बकरा वापस कर दिया। सरपंच ने मामले को रफा-दफा करवाने के एवज में 50 हजार रुपए की मांग की। महिला के पास इतने पैसे नहीं थे। इससे वह रुपए नहीं दे पाई। सरपंच ने गांव में मुनादी करवा कर गांव से निकल जाने कहा।