बेमेतरा – जिले में प्लंबर का काम करने शख्स की हत्या का राज खुल गया है। इस मामले में हत्यारा कोई और नहीं बल्कि उसका अपना दोस्त ही निकला है। आरोपी ने मजदूरी की बात को लेकर नशे की हालत में लोहे की पाइप से वार कर मृतक को मौत के घाट उतारा था और भाग गया था। जिसे 2 दिन बाद नांदघाट मारो पुलिस ने उसी के गांव से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी का नाम महेश लोनिया बताया है। जो बिलासपुर के परसदा का रहने वाला है। वहीं मृतक भूपेंद्र लोनिया( 30) भी परसदा का ही रहने वाला था। दोनों एक साथ काम करने के लिए बेमेतरा पहुंचे थे।

दरअसल, बेमेतरा के नवागांव में सामुदायिक भवन बनाया जा रहा है। जिसके लिए नल फिटिंग और अन्य कार्य किए जा रहे हैं। इसी भवन में काम करने के लिए प्लंबर भूपेंद्र अपने ही गांव के मजदूर महेश लोनिया के साथ आया हुआ था। दोनों मिलकर ही यहां काम कर रहे थे। दोनों रात को भी इसी सामुदायिक भवन में ही रहते थे।

मंगलवार रात को ठेकेदार घनश्याम जांगड़े व प्लंबर भूपेंद्र लोनिया, मजदूर महेश लोनिया खाना खाने बैठे थे। सभी ने साथ में मिलकर खाना खाया। लेकिन सामुदायिक भवन में बिजली कनेक्शन अभी नहीं है। वहीं गर्मी भी बहुत ज्यादा है। जिसकी वजह से ठेकेदार घनश्याम जांगड़े खाना खाकर सोने के लिए ग्राम झूलना चला गया।

इसके बाद ही दोनों के बीच मजदूरी की बात को लेकर विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि महेश ने गुस्से में आकर लोहे की पाइप से भूपेंद्र के सिर व मस्तक पर वार कर दिया। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया और उसकी मौत हो गई वहीं यह भी बताया गया कि वारदात के वक्त भूपेंद्र लोनिया और महेश लोनिया दोनों शराब के नशे में थे।

भूपेंद्र की लाश रात भर वहीं पड़ी रही। लेकिन जैसे ही ठेकेदार सुबह वापस सामुदायिक भवन पहुंचा तो पता चला कि भूपेंद्र लोनिया की हत्या कर दी गई है। इसके अलावा यह भी पता चला कि मौके पर महेश लोनिया मौजूद नहीं है। जिस पर ठेकेदार को महेश पर शक हुआ और उसने पूरे मामले की जानकारी नांदघाट मारो पुलिस को दी। जिसके बाद आरोपी को पुलिस ने उसी के गांव परसदा से गिरफ्तर किया है। पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म कबूल किया है और पूरे मामले की जानकारी को पुलिस को दी है।

By GiONews Team

Editor In Chief