रायपुर – प्रदेश में चार नए ज़िलों का अस्तित्व हो जाएगा, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वतंत्रता दिवस के समारोह को संबोधित करते हुए उक्ताशय का एलान किया है। इन चार नए ज़िलों में मनेंद्रगढ़ सक्ती मानपुर और सारंगढ शामिल हैं।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां राजधानी रायपुर के पुलिस परेड ग्राउंड में आयोजित स्वतंत्रता दिवस के मुख्य समारोह में प्रदेशवासियों को ऐतिहासिक सौगातें दी हैं, जिसमें-

1. विकेन्द्रीयकरण के सिलसिले को और आगे बढ़ाते हुए जिलों का पुनर्गठन करते हुए चार नये जिले ‘मोहला-मानपुर’, ‘सक्ती’, ‘सारंगढ़-बिलाईगढ़’ तथा ‘मनेन्द्रगढ़’ के गठन की घोषणा।

2. 18 नई तहसीलों के गठन की घोषणा ।

3. राजस्व संबंधी कामकाज की जटिलता से जनता को राहत दिलाने के लिए नामांतरण की प्रक्रिया का सरलीकरण किया जाएगा।

4. सभी जिला मुख्यालयों एवं नगर-निगमों में एक उद्यान सिर्फ महिलाओं के लिए विकसित किया जाएगा, जो ‘मिनीमाता उद्यान’ के नाम से जाना जाएगा।

5. प्रचलित व्यवस्था के अनुसार प्रदेश के महाविद्यालयों में, स्नातक तथा स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आयु-सीमा का बंधन है। उच्च शिक्षा के लिए आगे बढ़ने वाले युवाओं के हित में आयु-सीमा के इस बंधन को समाप्त करने की घोषणा ।

6. प्रदेश की जनता को रियायती दर पर दवा उपलब्ध कराने के लिए ‘मुख्यमंत्री सस्ती दवा योजना’ नगरीय क्षेत्रों में लागू है। अब यह ‘श्री धन्वन्तरी योजना’ के नाम से जानी जाएगी।

7. बिजली कंपनियों में विभिन्न पदों पर 2 हजार 500 से अधिक कर्मियों की भर्ती की जाएगी।

8. ‘डायल 112’ सेवा की उपयोगिता को देखते हुए इसका विस्तार अब पूरे प्रदेश में किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने 18 नए तहसीलों और 4 जिलो की घोषणा की। इनमे नांदघाट,सोहेला,सीपत,बोदरी, बिहारपुर,चांदो,रधुनाथ नगर, डौरा- कोचली ,कोटमी- सकोला,सरिया,छाल,अजगरबहार, बरपाली,अहिवारा सरोना,कोरर,बारसुर ,मर्दापाल,धनोरा,अड़भार,गंगलूर,कुटरू ,लालबहादुर नगर,तोंगपाल को नया तहसील बनाया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा, छत्तीसगढ़ ने बीते 2 सालों में 1 हज़ार 173 करोड़ रुपयों की लघुवनोपज खरीदी की है। जो देश की कुल खरीदी का 74 प्रतिशत है।1 साल में 263 नए धान खरीदी केंद्र खोले गए और 20लाख 53 हज़ार किसानों को 92 लाख मैट्रिक टन धान खरीदी समर्थन मूल्य पर किया गया। वही 17240 करोड़ का भुगतान किया गया राजीव गांधी किसान योजना के तहत पहले साल में 5628 करोड़ की प्रोत्साहन राशि समर्थन मूल्य पर किसानों को दी गई पहली किश्त के रूप में ₹150000000 से अधिक राशि दी जा चुकी है चिन्नकड़ा मेरा वादा है कि इस साल भी 5703 करोड रुपए की राशि चार किस्तों में दी जाएगी।

पहले हमने 17 लाख से अधिक किसानों की लम्बित सिंचाई जलकर राशि 244 करोड रुपए माफ किए थे और अब 30 जून 2020 तक लंबित सिंचाई जल कर की राशि 80 करोड़ माफ करने का निर्णय लिया है।

देश के राष्ट्रीय पर्व जब उल्लास से मनाया जाएगा तो उसमें छत्तीसगढ़ के वे मजदूर भी शरीक होंगे जिन्हें राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना का लाभ मिलेगा, जिसमें 10लाख मजदूर भाई बहनों को ₹6000 सालाना अनुदान सहायता राशि दी जाएगी।भूपेश बघेल ने घोषणा करते हुए कहा कि नामांतरण प्रक्रिया का सरलीकरण किया जाएगा।

By GiONews Team

Editor In Chief