रायपुर – विधायक बृहस्पति सिंह के मामले में हंगामे के बाद पाँच मिनट के लिए स्थगित करने के बाद सदन की कार्यवाही शुरु हुई। शुरु होते ही विपक्ष ने फिर हंगामा शुरु कर दिया। इस पर विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने वरिष्ठ विधायक डॉ रमन सिंह से कहा
“आप पंद्रह साल के मुख्यमंत्री रहे हैं, प्राकृतिक न्याय का सिद्धांत है दोनों पक्षों की सुनना चाहिए.. बताईए क्या यह सही है कि या एक पक्ष ही सुनना चाहिए”
इस पर डॉ रमन सिंह ने कहा
“यह प्रदेश के इतिहास में अति विशिष्ट प्रकृति का मसला है.. इसलिये सारे विधायक उत्तेजित हैं.. और माँग रख रहे हैं.. “
शोरगुल हंगामे के बीच विधानसभा अध्यक्ष महंत ने व्यवस्था दी
“अब तक विधायक ने मुझे कुछ नहीं कहा.. विधायक ने सदन में कुछ नहीं कहा है.. मुझे यह मसला विपक्ष ने बताया और इसलिए मैं सत्ता पक्ष से पूछूँगा”
इस पर विपक्ष ने असंतोष प्रकट करते हुए विधायक की बात सदन में कहे जाने का आग्रह दोहराया और उसके बाद शोरगुल होने लगा।
इस बीच सदन के नेता भूपेश बघेल ने कहा
“आप लोगों ने कहा.. हम शांति से सूनते रहे.. अब व्यवस्था हमें जवाब देने की है.. निर्देश हैं कहने दीजिए”
लेकिन विपक्षी हंगामा जारी रहा। शोरगुल के बीच विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने सदन की कार्यवाही भोजनावकाश तक स्थगित कर दी।

By GiONews Team

Editor In Chief