रायपुर – रायपुर पुलिस ने एक सस्ते सोना के नाम पर ठगी करने वाली महिलाओं के गैंग का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने ठगी में शामिल पांचों महिलाओं को गिरफ्तार कर दिया है। पता चला है, महिलाओं ने सस्ते सोना देने के नाम पर 52 लाख से अधिक राशि उड़ा लिए।

दरअसल शिवानंद नगर निवासी सरिता कुर्रे ने थाना खमतराई में रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि, फरवरी 2019 में कुमकुम साहू के साथ अन्य लोग उसके घर आये और सस्ते दाम में सोना देने की बात कही। कुछ दिन बाद सभी लोग दोबारा आये और 85 तोला सोना 28 हजार प्रति तोला देने की बात कही। महिलाओं की बातों में आकर पीड़िता ने पहली बार मार्च 2019 में 7 लाख दिए। इसके बाद सभी महिलाएं कल लाकर सोना देंगे कहकर वहां से चले गए। तीन दिन बीत जाने के बाद चौथे दिन चारों महिलाएं आये और बोले कि, सोना मणीपुरम एवं मुथुत फायनेंस में गिरवी रखे है। जो कि एक साथ हमको पैसा दो तब छुडाकर लायेंगे तथा आपको दे देंगे। महिलाओं की बातों में आकर पीड़िता ने अपने परिवार से 14 लाख लेकर उन्हे दे दिए। पैसे लेकर वे लोग यह कहकर गये कि शाम को सोना लाकर देंगे उसके बाद वे लोग न पीड़िता के घर आये और नहीं सोना दिये। इसके बाद पीड़िता ने खुद को ठगा हुआ महसूस कर इसकी शिकायत खमतराई थाने में दर्ज कराई। शिकायत के बाद मामले को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी अजय यादव ने जांच के निर्देश दिए।

खमतराई पुलिस की टीम द्वारा घटना के संबंध में प्रार्थियों से विस्तृत पूछताछ करते हुये महिला आरोपियों की खोज शुरू की गई। इस दौरान मुखबिर से मिली जानकारी के बाद महिला आरोपी सुनीता साहू उर्फ कुमकुम, पी. अनुसुईया राव, पूर्णिमा साहू, प्रतिभा मिश्रा एवं गीता महानंद को गिरफ्तार किया गया। महिला आरोपियों से कढ़ाई से जब पूछताछ की गई तो सभी ने ठगी करने की बात कबूल कर ली। पूछताछ में महिलाओं ने बताया कि, भोलीभाली महिलाओं को झांसे में लेकर बहाना बनाते हुये बताया जाता था कि उनके द्वारा अपने सोने के जेवरातों को बैंक में गिरवी रखा गया है। साथ ही सोने के जेवरातों का फोटो दिखाया जाता और अपने गिरोह के पुरूष सदस्य को बैंक कर्मी बताकर उनसे मोबाईल फोन पर बात करा दिया जाता था। जिससे बाद गृहणी आसानी से इन पर भरोसा कर इनके झांसे में आ जाती थी और सस्ते दाम में सोना पाने के लालच में इन्हें रकम दे देती थी।

By GiONews Team

Editor In Chief