बिलासपुर – छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में उत्तर प्रदेश के वाराणसी से नशीली दवाइयों की खेप पहुंचती है। यहां UP का डिस्ट्रीब्यूटर अपने पैडलर्स के जरिए इसकी सप्लाई निचली बस्तियों में करता था। शनिवार को पुलिस ने अंतर्राज्यीय डिस्ट्रीब्यूटर के साथ ही 4 पैडलर्स को गिरफ्तार किया है। उनके पास से करीब एक लाख 74 हजार रुपए का कोडिनयुक्त कफ सिरप, रेक्सोजेसिक, एविल इंजेक्शन, नाइट्रा टेबलेट, कार व पांच बाइक के साथ ही मोबाइल जब्त किया गया है। पैडलर्स डेढ़ सौ रुपए के कप सिरप को 500 रुपए में खपा दिया करते थे। पुलिस ने इस तरह के मामलों में पिछले एक हफ्ते में कुल 15 आरोपियों को पकड़ा है।

SP दीपक कुमार झा जिले में नशे के खिलाफ ऑपरेशन क्लीन अभियान चलाकर इस अवैध कारोबार में शामिल नशे के सौदागरों एवं तस्करों के खिलाफ लगातार अभियान चला रहे हैं। इसके लिए उन्होंने एडिशनल SP उमेश कश्यप के साथ ही सभी थाना प्रभारियों और साइबर सेल को कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। इस टीम को सूचना मिली कि कोनी क्षेत्र के ग्राम सेंदरी स्थित अपना ढाबा के पास एक युवक बाहर से कोडिनयुक्त कफ सिरप मंगाकर ला रहा है।

खबर मिलते ही कोनी थाना प्रभारी और टीम ने घेराबंदी एवं छापेमारी की तो वहां महामाया चौक निवासी शुभम उर्फ अभिषेक मिश्रा (23) को पकड़ लिया गया। पूछताछ में पता चला कि वह उत्तर प्रदेश के भदोही जिले के औराई क्षेत्र के ग्राम मेघीपुर का रहने वाला है। उसके पास से 3 पेटी कोडिनयुक्त कफ सिरप जब्त किया गया। शुभम ने पुलिस को बताया कि वह उत्तरप्रदेश के वाराणसी से नशीली दवाइयां मंगाता है। जिसे स्थानीय पैडलर्स के जरिए निचली बस्तियों में खपाता है।

शुभम के बताए अनुसार सिटी कोतवाली थाना प्रभारी शीतल सिदार के नेतृत्व में गठित टीम ने दयालबंद, गुरु नानक शाला के पास दबिश देकर अजय नरेश सोनकर उर्फ पप्पू को दबोच लिया। वह अपने घर में नशीली दवा छिपा कर रखा था। उसके पास से 30 कोडिनयुक्त सिरप, 20 एविल व 20 रेक्सोजेसिक इंजेक्शन के साथ ही 2 हजार 530 रुपए बिक्री रकम जब्त किया गया।

इसके साथ ही सरकंडा TI परिवेश तिवारी और उनकी टीम ने एक्टिवा वाहन में अवैध रूप से नशीली दवाओं को लेकर जा रहे बंधवापारा के इमलीभाठा निवासी प्रताप सिंह राणा (22) व लक्ष्मण गंधर्व उर्फ रॉकी (19) को पकड़ लिया। दोनों के पास से 70 कोडिनयुक्त कप सिरप जब्त की गई। सभी आरोपियों के खिलाफ NDPS एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। पुलिस ने इन सभी आरोपियों से 536 कोडिनयुक्त कफ सिरप, 170 रेक्सोजेसिक इंजेक्शन, 60 नग एवील, इंजेक्शन, 1 एहजार नाइट्रा टेबलेट, कार, 5 बाइक और 15 मोबाइल जब्त किया है।

पुलिस अफसरों ने बताया कि ऑपरेशन क्लीन अभियान के तहत एक सप्ताह में पुलिस की टीम ने अलग-अलग जगहों में छापेमारी कर 15 आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की है। इसमें सीपत में एक गांजा तस्कर के साथ ही तोरवा में एक, कोतवाली में 2, कोनी में एक, सरकंडा में 2, सिविल लाइन में 3 समेत 10 प्रकरण दर्ज कर 15 आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए नशीली दवाइयां जब्त की हैं। पुलिस ने इन सभी मामलों में कुल 17 लाख रुपए का माल जब्त किया है।

By GiONews Team

Editor In Chief