बिलासपुर– नवीन महादेवा हत्याकांड के मामले में आखिरकार NSUI के प्रदेश सचिव वसीम खान को आरोपी बनाया गया है। पुलिस की जांच और पकड़े गए युवक के मोबाइल से उसके बातचीत के सबूत मिले है। इस हत्याकांड में NSUI नेता को बचाने पुलिस पर गंभीर आरोप लग रहे थे और यह घटना राजनीतिक रूप ले रही थी।

बीते 25 फरवरी को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जब शहर प्रवास पर थे। तभी दोपहर तीन बजे सिविल लाइन क्षेत्र के तालापारा के समता कॉलोनी गार्डन के पास 25-30 लड़कों ने मिलकर नाबालिग नवीन महादेवा पर चाकू से ताबड़तोड़ हमला कर दिया था। दोस्त पर हमला होते देख उदय चक्रवर्ती बीच-बचाव करने पहुंचा, तब उस पर भी गंभीर चाकू से हमला कर दिया गया। इस गैंगवार में नवीन की हत्या हो गई और उदय को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

हत्या के इस मामले में अपना नाम सामने आने के बाद वसीम ने अपने आप को निर्दोष बताया था। उसने पुलिस को अपने रैली में शामिल होने का वीडियो दिया था। इसके साथ ही अलग-अलग जगहों के CCTV फुटेज भी दिया था, जैसे ही उसे पता चला कि सज्जाद के मोबाइल से बातचीत के सबूत मिले है। इसके बाद वसीम फरार हो गया है। इधर, पुलिस उसकी तलाश भी कर रही है।

पुलिस ने हत्या के इस मामले में अब तक 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि सज्जाद अली (23 साल) के मोबाइल की कॉल डिटेल्स ली गई और उसका बयान दर्ज किया गया, तब पता चला है कि वसीम खान घटना के समय आसपास ही था। इसके साथ ही सज्जाद अली से वह लगातार संपर्क में भी था। जिसके बाद वसीम को हत्या के इस मामले में आरोपी बना लिया है।

By GiONews Team

Editor In Chief