पुलिस का लगातार दबाव बढ़ने से आरोपी कंप्यूटर ऑपरेटर दिनेश ने पेंड्रा रोड में कोर्ट में समर्पण कर दिया। - Dainik Bhaskar

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही – जिले में फर्जी एंट्री कर धान खरीदी केंद्र से गबन मामले में 7 माह से फरार चल रहे कंप्यूटर ऑपरेटर ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया। आरोपी ने प्रबंधक के साथ मिलकर उसकी ID और पासवर्ड के जरिए 28.46 लाख रुपए से ज्यादा रुपए हड़प लिए थे। जांच में खुलासा होने के बाद से कंप्यूटर ऑपरेटर भाग निकला था। सारे रुपयों का गबन महज 4 दिन में किया गया। मामला गौरेला थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, गौरेला के खोडरी सेवा सहकारी समिति में गबन की शिकायत मिली थी। इस पर खाद्य निरीक्षक ने जांच की। इसमें पता चला कि 1 जनवरी से लेकर 5 जनवरी के बीच 20 किसानों के 1510.40 क्विंटल धान की फर्जी एंट्री कर 28.46 लाख रुपए से ज्यादा का गबन किया गया है। जांच में यह भी पता चला कि इसके लिए समिति प्रबंधक मोहन लाल मरावी की ID और पासवर्ड का इस्तेमाल किया गया है।

FIR दर्ज होते ही दोनों आरोपी भाग निकले
इस दौरान एक जांच समिति का भी गठन किया गया। जांच समिति की सिफारिश पर खाद्य अधिकारी ने 10 जनवरी को FIR दर्ज करा दी। पुलिस जांच करती इससे पहले ही दोनों आरोपी गायब हो गए। इस दौरान पता चला कि प्रबंधक मोहन लाल मरावी और कंप्यूटर ऑपरेटर दिनेश वस्त्रकार ने बिक्री की ऑनलाइन फर्जी एंट्री की और शासकीय धनराशि निकाली है। पुलिस दोनों की गिरफ्तारी को लेकर लगताार दबिश दे रही थी।

कंप्यूटर ऑपरेटर ने किया सरेंडर, प्रबंधक 2 माह पहले पकड़ा गया
पुलिस का लगातार दबाव बढ़ने से आरोपी कंप्यूटर ऑपरेटर दिनेश ने पेंड्रा रोड में कोर्ट में समर्पण कर दिया। सूचना मिलने पर पुलिस ने उसे पकड़ लिया। इसके बाद कानूनी कार्रवाई कर कोर्ट में पेश किया है। वहीं इस मामले में दूसरा आरोपी प्रबंधक मोहनलाल मरावी को पुलिस करीब दो माह पहले ही जून में गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। हालांकि गबन की राशि का अभी तक पता नहीं चल सका है। इसको लेकर पूछताछ की जा रही है।

By GiONews Team

Editor In Chief