जीपीएम – पुलिस जिले में हुए एक बड़ी चोरी का खुलाशा करने में सफलता हासिल की है। घटना थाना मरवाही के सिवनी ग्राम की है। गल्ला व्यापारी अशोक गुप्ता निवासी सिवनी का थाना में रिपोर्ट दर्ज कराया था कि यह अपने रिस्तेदारी में सपरिवार शादी में गया था। दिनाँक 6/7/21 को जब सुबह वापस आया तो घर के दरवाजे के कुंदा टूटा हुआ था। अंदर जाकर देखा जो आलमारी का दरवाजा भी टूटा था आलमारी में रखे 4 लाख रुपये और सोने, चांदी के जेवर आदि कीमती 4 लाख कुल कीमती 8 लाख को चोरी कर ले गए है। रिपोर्ट पर से थाना मरवाही में अपराध क्रमांक 100/21 धारा 457,380 भादवि कायम कर विवेचना में लिया गया।

थाना प्रभारी मरवाही के द्वारा घटना की सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को दिया गया। पुलिस अधीक्षक श्री त्रिलोक बंसल के द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गौरेला श्रीमती प्रतिभा तिवारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री गौरव मंडल के निर्देशन में थाना प्रभारी मरवाही नरेंद्र सिंह के नेतृत्व में टीम गठित कर मामले की विवेचना हेतु निर्देशित कर लगातार मार्गदर्शन किया गया। थाना मरवाही की टीम के द्वारा मामले में लोकल मुखबिरों को सक्रिय कर तैनात रखी थी। मम्मले में शिवम गुप्ता के ऊपर संदेह होने से शिवम गुप्ता को हिरासत में लेकर मनोवैज्ञानिक तरीके से पूछताछ पर अपने साथी राजकुमार दुबे एवं नीरज द्विवेदी के साथ चोरी करना कबूल किया।

मामले की जांच विवेचना पर पाया गया कि प्रकरण का मुख्य आरोपी शिवम गुप्ता उर्फ रस्सू जो की टी.बी. की बिमारी से ग्रसित है जिसके बारे में उसने घर पर नही बताया था और घर में बिना बताए ईलाज के लिए पैसो की आवश्यकता थी। इसी प्रकार प्रकरण के अन्य आरोपी राजकुमार दुबे उर्फ छोटू जिसकी की जमीन उसके पैतृक गांव दारसागर में है जहां पर उसकी खेती जमीन गिरवी है जिसे वह पैसा देकर छुडाना चाहता है एवं इसी प्रकार प्रकरण के एक और आरोपी नीरज द्विवेदी अपने गाडी का लोन जल्द पूरा कराने के उददेश्य से तीनो आरोपी चोरी की योजना बनाते है। मुख्य आरोपी शिवम को यह पता था कि उसके रिश्तेदार अशोक गुप्ता जो गल्ला व्यापारी है का परिवार शादी में बाहर गये है और गल्ला व्यापारी है उनके घर पैसा होगा घटना दिनांक को शाम के 07.00 बजे आरोपी शिवम गुप्ता जब विजय दुबे की किराना दुकान में गया वहा पर अशोक गुप्ता के यहां रात को सोने जाने वाला चौकीदार मंगल सिह से मिला वही मंगल सिह ने शिवम गुप्ता को कहा कि सेठ ( अशोक गुप्ता ) से बात कर के पूछो वह कब आएगा। इस पर जब शिवम गुप्ता ने फोन पर अशोक गुप्ता के लडके राहुल गुप्ता से फोन से बात करने पर यह पता चला कि अशोक गुप्ता और उसका परिवार आज रात न आकर कल सुबह पहुचने वाले है।

इस बात का पता चलने पर तत्काल चोरी करने की योजना बनाई और अपने साथी राजकुमार दुबे और नीरज द्विवेदी को जरिये मोबाईल से सूचना दिया और यह तय हुआ कि आरोपी शिवम और राजकुमार अंदर जाएगे और नीरज द्विवेदी बाहर निगरानी करेगा। तय समय पर शिवम और राजकुमार दुबे घर के अंदर घुसे और घर के दरवाजे को धक्का देकर तोडा फिर अंदर घुस कर अलमारी के दरवाजे को पंचकरा से तोडा और अंदर रखा नकदी और सोना चांदी के गहने लेकर बाहर आ गए फिर सोसायटी के सामने आकर राजकुमार को 100000 / नकद दिया और बाकी पैसा व सामान वह खुद रखा व घटना के अगले दिन चोरी की राशि में से 100000 / – अन्य आरोपी नीरज द्विवेदी को दिया गया।

पुलिस को मामले की पतासाजी के दौरान मुखबिर से यह सूचना मिली की प्रकरण का एक आरोपी शिवम गुप्ता ( कुछ गहने ) को बेचने का प्रयास कर रहा है इस पर से पुलिस ने पतासाजी कर आरोपी शिवम गुप्ता को उसके घर से अभिरक्षा में लेकर पूछताछ शिवम गुप्ता किया तो आरोपी ने अपना जुर्म स्वीकार किया और चोरी के माल को अपने घर पर छुपा कर रखा जाना बताया। आरोपी शिवम गुप्ता के घर जाकर उसकी निशादेही पर चोरी किए गए सोने चांदी के जेवर कीमत 4 लाख रुपये और नकद 50000 रुपये को बरामद कर विधिवत जप्ती किया। अन्य आरोपी राजकुमार दुबे और नीरज द्विवेदी के द्वारा चोरी के नकद राशि को ग्राम सिवनी मे नीलगिरी प्लांटेशन के पास महुआ पेड के नीचे छिपाकर रखना बताया जो कि 30000 / – की मेमोरेडम जप्ती किया। इस प्रकार मामले में 4,00,000 रुपये के सोने चांदी के जेवर एवं 80,000 रुपये नगद बरामद किया गया है शेष 320000 / – सभी आरोपियो के द्वारा खर्च करना बताया गया है।

प्रकरण के आरोपी 1.शिवम गुप्ता उर्फ ररसु पिता जमुना प्रसाद गुप्ता उम्र 26 साल 2 राजकुमार उर्फ छोटू दुबे पिता रामुदलारे दुबे उग्र 19 साल 3. नीरज द्विवेदी पिता रामशोभित द्विवेदी उम्र 25 साल सभी निवासी पुरानी बस्ती सिवनी थाना गरवाही को गिरफतार कर न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

By GiONews Team

Editor In Chief