राजनांदगांव – मेडिकल कॉलेज अस्पताल में मरीजों की सुरक्षा व्यवस्था के किस तरह से इंतजाम है, उसकी पोल खुल गई है। गुरुवार को पेंड्री स्थित मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल की छठवीं मंजिल से कूदकर एक मरीज ने खुदकुशी कर ली। मरीज के सिर पर गहरी चोट लगी थी। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक, मरीज मानसिक रूप से बीमार था। एक दिन पहले ही हॉस्पिटल में इलाज के लिए भर्ती हुआ था। घटना की सूचना मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने पुलिस को दी। उसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पुलिस ने जांच भी शुरू कर दी है।

27 वर्षीय सचिन पिछले कुछ सालों से मानसिक बीमारी से जूझ रहा था। परिजनों के मुताबिक वह पहले भी गांव में सुसाइड की कोशिश कर चुका है। उसका कई जगहों पर इलाज चला लेकिन स्थिति नहीं सुधर रही थी। उसे बीच-बीच में दौरे पड़ते थे और वह उग्र हो जाता था। दो दिन पहले से उसे दौरे पड़ रहे थे, इसलिए कल उसे किसी तरह अस्पताल लाया गया। यहां वह आज सुबह से ठीक था, इसलिए उसके साथ आए परिजन थोड़ी देर के लिए वार्ड से बाहर चले गए थे। इसी दौरान सचिन ने छलांग लगा दी।

राजनांदगांव CSP लोकेश चंद्राकर ने बताया युवक को बुधवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उसने गुरुवार दोपहर 2 से 3 बजे के बीच हॉस्पिटल की छठवीं मंजिल से कूदकर खुदकुशी कर ली। मृतक की पहचान सचिन कुमार सांगोड़े (27) के रूप में हुई है। युवक जिले के थाना चिल्हाटी हाजुटोला गांव का रहने वाला था। मानसिक रोगियों को नयी बिल्डिंग में छठवीं मंजिल में ही रखा जा है। यह भी गंभीर मुद्दा है क्योंकि इससे इस तरह के हादसे होने का लगातार खतरा रहेगा। इस मामले में हॉस्पिटल के स्टाफ से भी पूछताछ की जा रही है। फिलहाल मर्ग कायम कर लिया गया है। वहीं मृतक युवक के परिजनों के भी बयान दर्ज किए जाएगे। उधर अस्पताल और मेडिकल कॉलेज प्रबंधन की ओर से कोई भी बयान इस घटना को लेकर नहीं आया है।

By GiONews Team

Editor In Chief