गौरेला-पेंड्रा-मरवाही – जिले में भालुओं का आतंक कम होने का नाम नहीं ले रहा है। एक बार फिर शनिवार सुबह 3 भालुओं ने एक ग्रामीण पर हमला कर दिया। भालुओं ने ग्रामीण के सिर, छाती और पैर से मांस नोच लिया। शोर सुनकर आसपास के लोग पहुंचे और मिलकर भालुओं को भगाया। सूचना मिलने के बाद एंबुलेंस से ग्रामीण को जिला अस्पताल पहुंचाया गया। फिलहाल उसकी हालत गंभीर है।। घटना मरवाही क्षेत्र की है।

शोर सुनकर लोग वहां पहुंचे तो भालू भाग गए।
शोर सुनकर लोग वहां पहुंचे तो भालू भाग गए।

जानकारी के मुताबिक, मरवाही के ग्राम निमधा निवासी लाल मुनि (45) शनिवार सुबह करीब 5.30 बजे अपने खेत से घर लौट रहा था। इसी दौरान अचानक तीन भालुओं ने उस पर हमला कर दिया। लाल मुनि ने बचने का प्रयास किया, लेकिन तब तक भालू ने उसकी छाती और पैर पर पंजा मार दिया था। हमले में दोनों जगह से लाल मुनि के शरीर का मांस निकल गया और वह वहीं गिर पड़ा। शोर सुनकर लोग वहां पहुंचे तो भालू भाग गए।

परिजन की मांग है कि वन विभाग की ओर से उचित मुआवजा और उपचार उपलब्ध कराया जाए।
परिजन की मांग है कि वन विभाग की ओर से उचित मुआवजा और उपचार उपलब्ध कराया जाए।

लोगों में दहशत का माहौल, 7 दिन में दूसरी घटना
घटना के बाद से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। इस तरह से दिनदहाड़े भालू के हमले से ग्रामीण काफी डरे हुए हैं। क्षेत्र में 7 दिन में यह दूसरी घटना है, जब भालुओं ने हमला किया है। इससे पहले सेमरदर्री पंचायत क्षेत्र में दो भालुओं और उनके बच्चों ने महिला पर हमला कर दिया था। फिलहाल घटना की सूचना मरवाही रेंजर दरोगा सिंह को दे दी गई है। परिजनों की मांग है कि वन मंडल मरवाही की ओर से उचित मुआवजा और उपचार उपलब्ध कराया जाए।

घटना के बाद से ग्रामीणों में भय का माहौल है।
घटना के बाद से ग्रामीणों में भय का माहौल है।

जिले में इसी साल भालुओं के कई हमले हुए
जिले में इस साल लगातार भालुओं का हमला हो रहा है। बीच में दो महीने राहत थी, लेकिन फिर खतरा बढ़ गया।

  • 7 अगस्त : सेमरदर्री पंचायत क्षेत्र में महिला धान की रोपाई करने के लिए खेत जा रही थी। इसी दौरान रास्ते में दो भालुओं और उनके बच्चों ने हमला कर चेहरे और पीठ से मांस नोच लिया था।
  • 12 मई : पसान रेंज सरमा ग्राम पंचायत में भालू ने एक ग्रामीण पर हमला कर दिया। इस दौरान भालू ने ग्रामीण के सिर और चेहरे से मांस नोंच लिया था। ग्रामीण की मदद से उसे बचाया जा सका।
  • 23 मार्च : भालू मरवाही स्थित इंदिरा गार्डन और उसके आसपास के क्षेत्र में पहुंच गया था।
  • 30 जनवरी : गौरेला क्षेत्र में दो देवरानी-जेठानी पर हमला कर दिया था। इस दौरान भालू ने एक महिला की आंख निकाल ली, जबकि दूसरे की पीठ पर वार किया।
GPM जिले में इस साल लगातार भालुओं का हमला हो रहा है। - Dainik Bhaskar

इसके अलावा दिसंबर में गौरेला क्षेत्र के खोडरी में एक वृद्ध को मार दिया था। वहीं एक दुर्लभ प्रजाति के सफेद भालू की मौत भी हो चुकी है। दिसंबर माह में वह कुएं में गिर पड़ा था। लोगों ने देखा भी, लेकिन बाहर मादा भालू को देख कोई उसे बचाने की हिम्मत नहीं जुटा सका।

By GiONews Team

Editor In Chief