पुलिस ने बच्ची के हत्यारोपी को जांजगीर से गिरफ्तार किया। - Dainik Bhaskar

कोरबा – 3 साल की आदिवासी बच्ची के हत्यारोपी को पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। वह भागकर जांजगीर के एक गांव में छिपा हुआ था। वह बच्ची को चॉकलेट के बहाने साथ ले गया था। रेप में नाकाम रहने पर उसने बच्ची की गला घोंट कर हत्या कर दी थी। पकड़ा गया आरोपी बच्ची का पड़ोसी होने के साथ ही उसका दूर का रिश्तेदार भी है। वारदात 3 दिन पहले पाली थाना क्षेत्र में हुई थी।

दरअसल, छिंदपानी गांव निवासी 3 साल की आदिवासी बच्ची का शव शुक्रवार देर रात निर्माणाधीन मकान में मिला था। पूछताछ में पता चला था कि पड़ोस में रहने वाला 25 साल का अर्जुन धनुहार उसे चॉकलेट खिला रहा था, फिर घुमाने के लिए अपने साथ ले गया था। वारदात के बाद से ही अर्जुन सिंह भागा हुआ था। इस बीच पुलिस को सोमवार को उसके ग्राम उड़ता में दिखाई देने का पता चला। जानकारी जुटाई गई तो पता चला कि वह जांजगीर में छिपा है।

इस पर पुलिस टीम ग्रामीणों का वेश बनाकर जांजगीर के ग्राम कांड्रा पहुंच गए। वहां मंगलवार सुबह नित्य क्रिया का अभिनय कर आरोपी अर्जुन का इंतजार कर रहे थे। इसी बीच अर्जुन नहाने के लिए तालाब के पास पहुंचा, तभी पुलिसकर्मियों ने उसे दबोच लिया और पकड़ कर कोरबा ले आए। पूछताछ में आरोपी अर्जुन ने बच्ची की हत्या करने की बात स्वीकार कर ली। पकड़ने वाली पुलिस टीम को 5 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा SP ने की है।

पूछताछ में अर्जुन ने बताया कि वह बच्ची को अपने साथ ले गया था। रात में वह बच्ची से दुष्कर्म की नीयत से था, लेकिन इस बीच बच्ची के परिजनों और लोगों ने उसकी तलाश शुरू कर दी। अर्जुन ने पुलिस को बताया कि निर्माणाधीन मकान में उसने बच्ची की गला घोंट कर हत्या कर दी। इस बीच परिजन बच्ची को तलाश करते हुए आरोपी को घर पहुंच गए और पूछताछ करने लगे। पकड़े जाने के डर से वह घर से निकल कर भाग गया।

By GiONews Team

Editor In Chief